Переможці конкурсу

आलेख

विषय

ग्लोबल शाइनिंग लाइट पुरस्कार नाइजीरिया, वेनेज़ुएला, उत्तर मैसेडोनिया और दक्षिण अफ़्रीका के समाचार संस्थानों को 

इस लेख को पढ़ें

ग्लोबल शाइनिंग लाइट अवार्ड 2023 के विजेता

ग्लोबल इनवेस्टिगेटिव जर्नलिज़्म नेटवर्क के इस साल के ग्लोबल शाइनिंग लाइट पुरस्कार (GSLA) 13वें वैश्विक खोजी पत्रकारिता सम्मेलन (GIJC23) में दिये गये। यह पुरुस्कार नाइजीरिया, वेनेज़ुएला, उत्तर मैसेडोनिया और दक्षिण अफ़्रीका के समाचार संस्थानों को उनकी उत्कृष्ट खोजी खबरों के लिए हैं। इस बार के पुरुस्कार वेनेजुएला में अवैध खनन, उत्तर-पश्चिमी नाइजीरिया में दस्यु समस्या, दक्षिण अफ्रीका में पुलिस की बर्बरता और उत्तरी मैसेडोनिया में COVID-19 मुनाफाखोरी की खोजी खबरों के लिए दिये गये।

यह पुरस्कार विकासशील या परिवर्तनशील देशों में खतरनाक परिस्थितियों में की जाने वाली खोजी पत्रकारिता का सम्मान करते है। इस बार प्रविष्टियाँ इतनी अधिक थीं कि पुरस्कार निर्णायकमंडल ने दो अतिरिक्त परियोजनाओं को उत्कृष्टता के प्रमाण पत्र देने का फैसला किया।

लघु और मध्यम संस्थान श्रेणी में संयुक्त विजेता रहे : Investigative Reporting Lab (उत्तरी मैसेडोनिया) की खबर Bad Blood और Viewfinder  (दक्षिण अफ्रीका) की Above the Law। बड़े संस्थानों के लिए संयुक्त विजेता रही BBC Africa Eye (Nigeria) की रिपोर्ट  The Bandit Warlords of Zamfara और वेनेज़ुएला की खबर Corredor Furtivo जिसे Armando.Info और El Pais ने तैयार किया था। Radio Liberty/Schemes (Ukraine) की खबर How Volunteers Buried Civilians en Masse in Izium, और बांग्लादेश के संस्थान Netra News की खबर  Secret Prisoners of Dhaka को जीएसएलए उत्कृष्टता प्रमाणपत्र प्रदान किए जा रहे हैं।

द्विवार्षिक विजेताओं की घोषणा गुरुवार, 21 सितंबर को स्वीडन के गोथेनबर्ग में #GIJC23 में एक भव्य पुरस्कार समारोह में की गई। पुरस्कार विजेताओं को निवर्तमान जीआईजेएन के कार्यकारी निदेशक डेविड ई. कपलान और जीआईजेएन के उप निदेशक गैब्रिएला मैनुली ने बधाई दी।

इस बार 2023 ग्लोबल शाइनिंग लाइट अवार्ड्स प्रतियोगिता के लिए 84 देशों से रिकॉर्ड 419 आवेदन आए। निर्णायक पैनल ने दो श्रेणियों में 11 देशों के एक दर्जन अंतिम प्रतिभागियों  में से चार विजेताओं और दो प्रमाणपत्र पुरस्कार विजेताओं को चुना। प्रत्येक विजेता को एक पट्टिका और 2500 अमेरिकी डॉलर प्राप्त होंगे। प्रमाणपत्र पुरस्कार विजेताओं को एक पट्टिका और 1,000 अमेरिकी डॉलर मिलेंगे।

निर्णायकमंडल में पांच वैश्विक क्षेत्रों का प्रतिनिधित्व करने वाले अनुभवी खोजी संपादक थे: कोलंबिया विश्वविद्यालय में ग्रेजुएट स्कूल ऑफ जर्नलिज्म में खोजी पत्रकारिता प्रोफेसर शीला कोरोनेल; द गार्जियन के पूर्व खोजी संपादक डेविड लेह; जीआईजेएन अफ्रीका के संपादक बेनोन ओलुका; प्रख्यात मैक्सिकन पत्रकार मार्सेला तुराती; और यूक्रेनी मीडिया विकास प्रशिक्षक ओलेग खोमेनोक।

निर्णायक मंडल की अध्यक्ष कोरोनेल ने कहा, “ग्लोबल शाइनिंग लाइट अवार्ड् के विजेता हमारे विश्वास को पुनर्जीवित करते हैं कि खोजी रिपोर्टिंग की परंपरा सबसे खतरनाक और दुर्गम स्थानों में भी जीवित है।” “ वैसे यह खोजी पत्रकार होने के लिए एक खतरनाक समय है और हमारे विजेताओं ने बताया है कि साहस, कौशल और नागरिकों के समर्थन के साथ, जोखिमों के बावजूद अभूतपूर्व और उच्च प्रभाव वाली रिपोर्टिंग संभव है। हम इस वर्ष के पुरस्कार विजेताओं को सलाम करते हैं। वे हम सभी के लिए प्रेरणा हैं।”

जीआईजेएन के डेविड कपलान ने कहा कि, “दुनिया के प्रहरी पत्रकारों पर आई सभी बाधाओं के बावजूद, हमारे सहयोगी सबसे कठिन परिस्थितियों में भी असाधारण काम कर रहे हैं।” “इन प्रभावशाली रिपोर्टिंग परियोजनाओं से पता चलता है कि न केवल खोजी पत्रकारिता कमजोर होने से इनकार कर रही है बल्कि यह हम दुनिया के कुछ सबसे कठिन स्थानों में बढ़ रहे हैं और मज़बूत हो  रहे हैं।” इस बार के विजेताओं की खबरों में विशेष रूप से जाँच के तरीकों की एक विस्तृत विविधता दिखाई दी।

Image: Screenshot, YouTube, Investigative Reporting Lab

छोटे संस्थानों की श्रेणी के संयुक्त विजेता

Bad Blood – Investigative Reporting Lab (उत्तर मैसेडोनिया)

टीम: साश्का क्वेत्कोव्स्का, एलेना मित्रेव्स्का कुकोव्स्का, माजा जोवानोव्स्का, दाजाना लाज़ारेव्स्का, लीला कराताशेवा, डेविड इलिस्की, ट्रिफुन सिटनिकोवस्की, ट्रेजचे एंटोनोव्स्की, अतानास वेलकोवस्की, गोरजन अतानासोव, म्लादेन पावलेस्की, व्लात्को व्लादिमीरोव, लुका ब्लेज़ेव, डेनिका चाडिकोव्स्का, मार्टिना सिलजानोव्स्का, सर्गेज सार्च एवस्की , बोजन स्टोजानोवस्की, एलेक्जेंड्रा डेनकोवस्का, और इवाना नास्तेस्का।

महामारी से जुड़े सबसे महत्वाकांक्षी COVID-19 मुनाफाखोरी जांच में से एक में, एक महिला रिपोर्टिंग टीम ने उत्तरी मैसेडोनिया के सबसे प्रतिष्ठित निजी अस्पताल में कोरोना वायरस से संबंधित मौतों, उपचार और रोगी बिलिंग की जांच करने का निर्णय लिया। कई समानांतर तरीक़ों से  महीनों की जांच के बाद, इन्वेस्टिगेटिव रिपोर्टिंग लैब (संगठित अपराध और भ्रष्टाचार रिपोर्टिंग परियोजना का एक स्थानीय सदस्य केंद्र) ने पाया कि अस्पताल ने कई रोगियों पर अस्वीकृत और असुरक्षित रक्त शुद्धिकरण उपचार किया था।  इसके अलावा महत्वपूर्ण रोगी जानकारी भी छिपाई थी और कथित तौर पर संक्रमण डेटा में हेरफेर की । खोजी खबर के इस प्रयास की एक खास बात यह थी कि ये पत्रकार COVID-19 उपचारों की गहरी तकनीकी जटिलता और अस्पताल के अधिकारियों की ओर से बताये गये रहस्यमय मेडिकल भ्रमजाल से प्रभावित नहीं हुए थे। इस खबर को लिखने वाले पत्रकारों और एक वरिष्ठ संपादक पर व्यापक ऑनलाइन उत्पीड़न, लैंगिक अपमान और जान से मारने की धमकियों के साथ हमला किया गया। निर्णायक मंडल के एक सदस्य ने ने कहाकि : “यह कहानी प्रभावशाली थी, और उन्होंने अपनी रिपोर्टिंग व्यवस्थित तरीक़े से की थी।” एक अन्य सदस्य ने कहा: “मुझे लगता है कि कुछ लोगों ने इन पत्रकारों की पूछताछ को बहुत गंभीरता से नहीं लिया – और रिपोर्टिंग का काम आसान कर दिया !”

Image: Screenshot, Viewfinder

संयुक्त विजेता

Above the LawViewfinder (South Africa) 

रिपोर्टर: डेनियल नॉएत्ज़े।

कई शानदार खोजी रिपोर्टों  की तरह, जो स्थायी प्रभाव छोड़ती हैं, यह लेख व्यक्तिगत अधिकारियों की गलतियों के बजाय संस्थागत विफलता को अपना केंद्रीय फोकस बनाता है। इस बहु-वर्षीय खोजी श्रृंखला ने बलात्कार, यातना, हमले और यहां तक ​​कि हत्या जैसे अपराधों में फंसे दक्षिण अफ़्रीकी पुलिस अधिकारियों के लिए जवाबदेही की आश्चर्यजनक कमी का खुलासा किया। प्रतिशोध के निरंतर जोखिम के बावजूद, इसमें व्यक्तियों को भी जिम्मेदार ठहराया गया। उल्लेखनीय रूप से, व्यूफाइंडर – एक छोटा गैर-लाभकारी समाचार संगठन – ने पुलिस कदाचार के बारे में हजारों पंजीकृत शिकायतों का एक अनूठा, आसानी से खोजने योग्य सार्वजनिक डेटाबेस भी बनाया। एक सदस्य ने कहा: “यह बहुत गहन रिपोर्टिंग थी, और कहानी कहने का तरीका अच्छा है, और, हर दो वाक्यों में, आप रिपोर्टर द्वारा प्रदान किए गए सबूतों का एक लिंक देखते हैं – सभी प्रकार के दस्तावेज़ हैं ।”

Image: Screenshot, YouTube, Netra News

श्रेष्ठता का प्रमाणपत्र

Secret Prisoners of DhakaNetra News (Bangladesh)

टीम: तसनीम खलील, नजमुल अहसन, ज़ुल्करनैन सेर खान और डेविड बर्गमैन सहित चार पत्रकार जिनका सुरक्षा कारणों से फिलहाल नाम नहीं बताया जा सकता है।

प्रहरी पत्रकारिता के एक महत्वपूर्ण क्षेत्र में, नेत्र न्यूज़ ने ढाका की राजधानी में एक गुप्त हिरासत केंद्र के अस्तित्व का खुलासा किया, जिसमें कई असंतुष्टों और आपराधिक संदिग्धों को रखा गया है। इस खोजी डॉक्यूमेंट्री, जिसके बारे में संस्थान का कहना है कि इसे दस लाख से अधिक बार देखा जा चुका है, में पूर्व बंदियों की गवाही, वर्तमान सैन्य अधिकारियों से सत्यापन और अंदर की तंग और अमानवीय स्थितियों की तस्वीरें शामिल हैं। एक पैनलिस्ट ने कहा कि नेत्रा न्यूज़ “देश में अनकही कहानियों को कवर करता है, और उन्हें हमेशा अधिकारियों से खतरा रहता है। इस विशेष कहानी ने बांग्लादेश सेना के एक ‘यातना कक्ष’ को उजागर किया, जो किसी भी परिस्थिति में, बांग्लादेशी पत्रकारिता का सबसे बहादुर उदाहरण है।

Image: Screenshot, Armando.Info

बड़े आउटलेट श्रेणी

संयुक्त विजेता

Corredor Furtivo (Furtive Corridor) — Armando.Info (Venezuela) and El Pais (Spain)

टीम: जोसेफ पोलिसज़ुक, मारिया डे लॉस एंजेल्स रामिरेज़, और मारिया एंटोनियेटा सेगोविया

इस महत्वाकांक्षी परियोजना में वेनेज़ुएला में अवैध खनन कार्यों के एक विशाल नेटवर्क और पर्यावरण और स्वदेशी समुदायों के लिए उनके संबंधित खतरों को उजागर करने के लिए परिष्कृत डेटा मैपिंग, नवीन सोर्सिंग और साहसी फ़ील्ड रिपोर्टिंग शामिल थी। स्पैनिश दैनिक Armando.info और El Pais द्वारा एक साथ प्रकाशित, पुलित्जर सेंटर के सहयोग से, इस परियोजना ने जर्मनी के आकार से दोगुने क्षेत्र में 3,718 अवैध खनन स्थानों की मैपिंग की, और सीमा पार संगठित अपराध गिरोहों द्वारा उपयोग किए जाने वाले मार्गों को भी उजागर किया। टीम ने एक कहानी बताने के लिए एआई उपकरण, डेटाबेस, एक उपग्रह ट्रैकिंग कार्यक्रम और सुदूर जंगल मार्गों के भौतिक सर्वेक्षण का उपयोग किया जिसमें शक्तिशाली ग्राफिक्स भी शामिल थे। एक जूरी सदस्य के अनुसार “यह कहानी हमें वहां ले जा रही है जहां पत्रकारिता जा रही है – और यह इतना बड़ा काम था कि उन्होंने एक ऐसी कहानी के कोड को क्रैक करने के लिए एआई का उपयोग किया जिसे हम अन्यथा नहीं देख पाते।” एक अन्य सदस्य  ने कहा: “हां, उन्होंने एआई जैसे उपकरणों का इस्तेमाल किया, लेकिन गुरिल्ला और नार्को गिरोह का खतरा भी था – इसलिए यह कठिन और खतरनाक काम था; यह सचमुच बहादुरी थी।”

Image: Screenshot, YouTube, BBC Africa Eye

 

संयुक्त विजेता

The Bandit Warlords of ZamfaraBBC Africa Eye (Nigeria)

टीम: यूसुफ अंका, टॉम सैटर, जमील मबाई, डैनियल एडमसन, काई लॉरेंस, बुलामा बुकार्ती, टॉम रॉबर्ट्स।

हर कुछ वर्षों में, रिपोर्टिंग के कुछ शानदार नमूने सामने आते हैं जो एक संपूर्ण, काफी हद तक छिपी हुई दुनिया को उजागर करते हैं। आश्चर्यजनक बहादुरी से जुड़ी दो साल की लंबी जांच में, BBC Africa Eye ने नाइजीरिया के उत्तर-पश्चिमी राज्य ज़म्फ़ारा में व्याप्त व्यापक संघर्ष और डकैत साम्राज्य का पर्दाफाश किया। पहली बार, इसने उस संघर्ष के उद्देश्यों और कारणों को भी दिखाया जिसमें 2022 में सैकड़ों लोग मारे गए और सैकड़ों हजारों लोग विस्थापित हुए। रिपोर्टिंग एक रिपोर्टर द्वारा प्राप्त सरदारों और पीड़ितों तक अद्वितीय पहुंच पर केंद्रित थी, जो समान रूप से खतरनाक साक्षात्कार आयोजित करने के लिए मोटरसाइकिल से खतरनाक सड़कों को पार करता था। BBC Africa Eye के अनुसार: “बड़े व्यक्तिगत जोखिम पर, एक युवा नाइजीरियाई पत्रकार और कानून के छात्र, यूसुफ अंका ने राज्य भर के दूरदराज के शिविरों में डाकुओं के सरगनाओं से मुलाकात की – उनमें वह व्यक्ति भी शामिल था, जिसने फरवरी 2021 में लगभग 300 लड़कियों का जंजेबे के हाई-स्कूल से अपहरण कर लिया था। एक ग्लोबल शाइनिंग लाइट अवार्ड के निर्णायक मंडल के एक सदस्य ने कहा: “नाइजीरिया में जातीय समूहों के बीच संघर्ष के केंद्र तक जाकर रिपोर्टर ने असाधारण बहादुरी का प्रदर्शन किया, और कुछ घटनाओं के घटित होने के तुरंत बाद ही वह घटनास्थल पर मौजूद थे। वह वास्तव में हमें एक ऐसी कहानी के केंद्र तक ले गए जो मैंने किसी और को सुनाते हुए नहीं देखी।”

Image: Screenshot, Radio Liberty/Schemes

श्रेष्ठता का प्रमाणपत्र

How Volunteers Buried Civilians en Masse in IziumRadio Liberty/Schemes (Ukraine)

टीम: किरा टॉल्स्टयाकोवा, वेलेरिया इगोशिना, नतालिया सेडलेट्स्का, किरिलो लाज़ारेविच, पावलो मेलनीक, मैक्सीम अस्यका, हेओरही शाबायेव और अन्ना पीटरिमोवा।

रेडियो लिबर्टी की यूक्रेन सेवा की एक खोजी परियोजना, स्कीम्स ने ग्लोबल शाइनिंग लाइट अवार्ड के लिए संदिग्ध रूसी युद्ध अपराधों पर कई उत्कृष्ट कहानियाँ प्रस्तुत कीं, जो काफ़ी मुश्किल परिस्थितियों में तैयार की गईं थीं। अंतिम स्थान के लिए, जूरी ने उस कहानी को चुना जिसने न केवल खार्किव क्षेत्र में सामूहिक कब्रों की उत्पत्ति को उजागर किया, बल्कि नागरिक यातना के सबूत भी पाए, और इन व्यवस्थित मानवाधिकारों के दुरुपयोग के पीछे अतिव्यापी रूसी कब्जे वाले ब्रिगेड की पहचान की। पत्रकारों ने उन वार्तालापों का भी खुलासा किया जिनमें रूसी सैनिकों ने अपने अपराधों पर चर्चा की थी। जबकि टीम ने दस्तावेज़ों और ओपन सोर्स टूल का उपयोग किया, यह भावनात्मक रूप से शक्तिशाली कहानी स्वयंसेवकों के साक्षात्कार के इर्द-गिर्द घूमती है, जिन्हें सैकड़ों साथी यूक्रेनियन को दफनाना पड़ा था।

Additional Resources

2023 Global Shining Light Award Finalists: Small and Medium Outlet Category

2023 Global Shining Light Award Finalists: Large Outlet Category

Global Shining Light Award


रोवन फिलिप जीआईजेएन के रिपोर्टर हैं। रोवन पहले दक्षिण अफ़्रीका के संडे टाइम्स के मुख्य संवाददाता थे। एक विदेशी संवाददाता के रूप में, उन्होंने दुनिया भर के दो दर्जन से अधिक देशों से समाचार, राजनीति, भ्रष्टाचार और संघर्ष पर रिपोर्टिंग की है।

क्रिएटिव कॉमन्स लाइसेंस के तहत हमारे लेखों को निःशुल्क, ऑनलाइन या प्रिंट माध्यम में पुनः प्रकाशित किया जा सकता है।

आलेख पुनर्प्रकाशित करें


Material from GIJN’s website is generally available for republication under a Creative Commons Attribution-NonCommercial 4.0 International license. Images usually are published under a different license, so we advise you to use alternatives or contact us regarding permission. Here are our full terms for republication. You must credit the author, link to the original story, and name GIJN as the first publisher. For any queries or to send us a courtesy republication note, write to hello@gijn.org.

अगला पढ़ें

अवार्ड समाचार और विश्लेषण

साल 2023 की भारत की कुछ सर्वश्रेष्ठ खोजी खबरें: जीआईजेएन एडिटर्स पिक

भारत के सीमावर्ती राज्यों सिक्किम, लद्दाख और अरुणाचल प्रदेश में चीनी घुसपैठ को भारत सरकार द्वारा बार-बार नकारा गया है। स्थानीय रिपोर्टों और विपक्ष के दावों के बावजूद, देश का मीडिया भी सीमा पार चीनी सैन्य गांवों के निर्माण की वास्तविकता को रिपोर्ट करने से कतरा रहा है। हालाँकि, भारत के प्रमुख मीडिया हाउस इंडिया टुडे की खोजी रिपोर्टिंग ने भारत सरकार के झूठे दावों को उजागर कर दिया।

समाचार और विश्लेषण

जब सरकारें प्रेस के खिलाफ हों तब पत्रकार क्या करें: एक संपादक के सुझाव

जिन देशों में प्रेस की आज़ादी पर खतरा बढ़ रहा है, वहां के पत्रकारों के साथ काम करने में भी मदद मिल सकती है। पत्रकारों को स्थानीय या अंतर्राष्ट्रीय मीडिया संगठनों के साथ गठबंधन बनाकर काम करने की सलाह देते हुए उन्होंने कहा- “आप जिन भौगोलिक सीमाओं तथा अन्य चुनौतियों का सामना कर रहे हों, उन्हें दरकिनार करने का प्रयास करें।“

Nalbari,,Assam,,India.,18,April,,2019.,An,Indian,Voter,Casts

डेटा पत्रकारिता समाचार और विश्लेषण

भारत में खोजी पत्रकारिता : चुनावी वर्ष में छोटे स्वतंत्र मीडिया संगठनों का बड़ा प्रभाव

भारत में खोजी पत्रकारिता लगभग असंभव होती जा रही है। सरकारी और गैर-सरकारी दोनों प्रकार की ताकतें प्रेस की स्वतंत्रता के प्रति असहिष्णु हो रही हैं। उल्लेखनीय है कि विश्व के 180 देशों के प्रेस स्वतंत्रता सूचकांक में भारत वर्ष 2022 में 150वें स्थान पर था। लेकिन वर्ष 2023 में इससे भी नीचे गिरकर 161वें स्थान पर आ गया।

post office boxes, shell companies

शेल कंपनियों के गुप्त मालिकों का पता कैसे लगाएं?

सहयोगियों ने मध्य पूर्व के एक राजा की विदेशी संपत्तियों की खोज की थी। पता चला कि यूके और यूएस में उस राजा के 14 आलीशान भवन थे। ऐसा गुप्त रूप से टैक्स-हेवन में फ्रंट कंपनियों के नेटवर्क के माध्यम से किया गया था। इस बात की नाटकीय पुष्टि तब हुई, जब एजेंटों द्वारा पंजीकरण दस्तावेजों में गुप्त ग्राहक के घर का पता ‘शाही महल‘ के रूप में दर्ज कराने की जानकारी मिली