इमेज: शटरस्टॉक

संसाधन

» गाइड

आलेख

विषय

फेसबुक में सर्च की तकनीक: हेन्क वैन एस

इस लेख को पढ़ें

संपादकीय टिप्पणी: हेंक वैन एस ने जीआईजेएन के लिए एक ‘ओपन सोर्स रिसर्च गाइड‘ तैयार किया है। यह गाइड सितंबर 2023 में ‘ग्लोबल इन्वेस्टिगेटिव जर्नलिज्म कॉन्फ्रेंस‘ (जीआईजेसी-23) ( Global Investigative Journalism Conference) में जारी की जाएगी। इसमें फेसबुक, लिंक्ड-इन (LinkedIn), ट्विटर (Twitter), इंस्टाग्राम (Instagram ) और टिकटॉक और टेलीग्राम (TikTok and Telegram) का उपयोग करके सामाजिक खोज की तकनीक बताई गई है। प्रस्तुत आलेख उसी गाइड का एक हिस्सा है।

कार्यप्रणाली: मैंने अपने यूजर इंटरफेस के रूप में अंग्रेजी भाषा के उदाहरणों को चुना है। कारण यह कि आम तौर पर नए खोज विकल्प पहले अंग्रेजी में दिखते हैं। लेकिन यहां प्रस्तुत अधिकांश उदाहरण अन्य भाषाओं में भी काम करेंगे। मैंने अपनी सर्च के दौरान स्क्रीनशॉट लेकर यहां प्रस्तुत किया है। इनमें आप देख सकते हैं कि जब मैंने खोज की तो ये उदाहरण कैसे दिखते थे। लेकिन दुबारा सर्च करने पर ऐसे परिणाम बदल सकते हैं।

फेसबुक तथा अन्य सोशल नेटवर्क में सर्च के दौरान वस्तुनिष्ठ अनुसंधान करना थोड़ा कठिन होता है। कारण यह है कि इनमें आपकी रूचि और आपकी मित्र सूची के आधार पर परिणाम मिलते हैं। फेसबुक का एल्गोरिदम आपके द्वारा अब तक की गई सर्च के इतिहास को ध्यान में रखता है। आप किस तरह की सामग्री देखते हैं? इस प्लेटफॉर्म के साथ आपका कैसा जुड़ाव है? इन सभी चीजों को ध्यान में रखकर आपको किसी सर्च के परिणाम दिखाए जाते हैं। इसके कारण एक ही विषय पर खोज करने पर दो अलग-अलग व्यक्ति को दो तरह के परिणाम देखने को मिल सकते हैं।

इसलिए किसी व्यक्ति के अनुसार मिलने वाले नतीजों के कारण वस्तुनिष्ठ अनुसंधान करना मुश्किल हो सकता है। यदि आप किसी खास विषय या किसी व्यक्ति पर शोध कर रहे हैं, तो आपके व्यक्तिगत नेटवर्क और प्लेटफॉर्म पर आपकी गतिविधि के आधार पर नतीजे मिलेंगे। इस तरह सोशल मीडिया नेटवर्क पर की गई खोज के नतीजे उस विषय का समग्र रूप से प्रतिनिधित्व नहीं करेंगे। आप अपने ही फिल्टर बबल में सीमित रह जाएंगे।

इसलिए खोजी पत्रकारों को हरेक सोशल मीडिया नेटवर्क में सर्च करने के लिए अलग तकनीक का उपयोग करना होगा। ऐसा करके ही आप उस नेटवर्क के एल्गोरिदम के कारण आने वाली चुनौतियों का मुकाबला कर सकते हैं। आपको यह सीखना होगा कि सोशल मीडिया कैसे काम करता है। उसी के अनुसार अपने शोध प्रश्नों को संशोधित करना होगा। खोजी अनुसंधान के लिए पत्रकारिता के सवालों को सोशल मीडिया नेटवर्क के अनुसार सुधारना होगा। अपने शोध को त्रिकोणीय बनाने और विषय की अधिक व्यापक समझ प्राप्त करने के लिए कई स्रोतों और तकनीकों का उपयोग करना होगा। प्रस्तुत गाइड में बताया गया है कि यह काम कैसे करना है।

अलग-अलग उपयोगकर्ता को अलग-अलग नतीजे दिखेंगे

आपको सोशल मीडिया पर सर्च के दौरान वस्तुनिष्ठ उत्तर क्यों नहीं मिल पाते? इसका कारण जानने के लिए दो अलग-अलग उपयोगकर्ताओं पर विचार करें। एक बहुत सक्रिय है और दूसरा निष्क्रिय। एक के बहुत सारे मित्र हैं। वह काफी पोस्ट डालता है। दूसरे के बहुत कम मित्र हैं। वह बेहद कम पोस्ट करता है।

इमेज: स्क्रीनशॉट, हेंक वैन एस

ऐसे दोनों व्यक्ति लिंक्ड-इन पर ‘क्वीन एलिजाबेथ‘ सर्च करते हैं। तब सक्रिय उपयोगकर्ता को विशिष्ट नाम और जीवनी संबंधी जानकारी प्राप्त होती है। जबकि निष्क्रिय उपयोगकर्ता को ‘एलिजाबेथ ओलाडोकुन‘ जैसा कोई अटपटा परिणाम और अस्पष्ट जानकारी मिलती है।

फेसबुक पर हम सार्वजनिक पोस्ट की खोज कर सकते हैं। लेकिन इससे भी समस्या का समाधान नहीं हो जाएगा। इस उदाहरण को देखें:

इमेज: स्क्रीनशॉट, हेंक वैन एस

हमने फेसबुक में ‘ग्लोबल इन्वेस्टिगेशन‘ सर्च किया। सक्रिय उपयोगकर्ता द्वारा सर्च करने पर एक खोजी रिपोर्टर की प्रोफाइल सामने आई। इसे आप तस्वीर में बाईं ओर देख सकते हैं। फेसबुक ने खोजी पत्रकारों के संगठन की एक पोस्टिंग को सबसे महत्वपूर्ण सार्वजनिक पोस्टिंग माना। जबकि दाईं ओर का दूसरा सर्च परिणाम देखें। एक निष्क्रिय उपयोगकर्ता द्वारा भी ‘ग्लोबल इन्वेस्टिगेशन‘ सर्च किया गया। इसके बेहद कम फ्रेंड हैं। इसे सर्च करने पर अलग परिणाम मिलता है। दरअसल इस उपयोगकर्ता के बारे में फेसबुक के पास बेहद कम जानकारी है। इसलिए फेसबुक ने उपयोगकर्ता की व्यक्तिगत रूचि से मेल खाने लायक परिणाम प्रस्तुत नहीं किए।

सोशल मीडिया नेटवर्क का एल्गोरिदम इसी तरह काम करता है। यह देखता है कि कौन लोग आपके मित्र हैं? किस तरह की पोस्ट पर आप क्लिक करते हैं? आप क्या किस तरह की पोस्ट शेयर करते हैं? आप किसी पोस्ट को देखने में कितना समय बिताते हैं? आप कितनी बार लोगों की पोस्ट पर कमेंट करते हैं?

जिन लोगों के फेसबुक में बहुत सारे फ्रेंड हैं, उन्हें सर्च करने पर विशेष जानकारी मिलती है। कारण यह है कि उनके बारे में फेसबुक के पास पर्याप्त जानकारी है। इसलिए आपकी जरूरत का आकलन करके फेसबुक उसी अनुरूप परिणाम प्रस्तुत करता है। लेकिन जिनके बेहद कम फ्रेंड हैं, उन्हें सर्च करने पर अन्य परिणाम देखने को मिलते हैं। कारण यह कि उन्होंने अपने मित्रों, विचारों, रुचियों के बारे में पर्याप्त जानकारी नहीं दी है। लेकिन उक्त दोनों तरह के परिणाम वस्तुनिष्ठ नहीं हैं। यह किसी भी खोजी पत्रकार के लिए एक समस्या है। सोशल मीडिया के नतीजे हमेशा व्यक्ति विशेष के अनुसार होंगे।

फेसबुक

एक खोज इंजन के बतौर फेसबुक की अपनी सीमाएँ हैं। इसकी सार्वजनिक पोस्टिंग को खोजने पर किसी समय अवधि के क्रम में नतीजे नहीं दिखाए जाते हैं। आप किसी विशेष महीने या समय अवधि की खोज नहीं कर सकते हैं। जैसे, वर्ष 2000 के फलां महीने से की गई पोस्टिंग खोजना मुश्किल है।

‘रॉकेट वैज्ञानिक‘ की सार्वजनिक पोस्टिंग सर्च करने पर फेसबुक में यह मिला:

इमेज: स्क्रीनशॉट, हेंक वैन एस

 

ऐसे नतीजे आपके मित्रों और आपकी गतिविधि पर आधारित होते हैं। यहां तक कि सार्वजनिक पोस्ट भी व्यक्ति के अनुरूप होते हैं। इसलिए इनके आधार पर वस्तुनिष्ठ जांच करना मुश्किल है।

इसमें आप कुछ शब्दों को बाहर करने के लिए ऋण चिह्न (माइनस) का उपयोग नहीं कर सकते। हम इस समस्या पर चर्चा नीचे ‘आउटसाइड द बॉक्स‘ में करेंगे। लेकिन पहले देखें कि हम इनसाइड द बॉक्स क्या कर सकते हैं?

इनसाइड द बॉक्स

फेसबुक को वर्तनी सिखाएं

जब आप कोई गलत शब्द लिखकर सर्च करते हैं, तब भी फेसबुक आपको सही शब्द के अनुसार खोजकर दिखा सकता है। जैसे, नीचे दिए गए स्क्रीनशॉट में देखें। मेरे नाम की गलत वर्तनी लिखकर सर्च करने पर भी फेसबुक आपको सही उत्तर दिखाएगा।

social searching via facebook personal

इमेज: स्क्रीनशॉट, हेंक वैन एस

 

फेसबुक उन शब्दों को ढूंढने की कोशिश करता है जो आपकी या आपके दोस्तों की टाइमलाइन के शब्दों से मेल खाते हों। लेकिन यदि आपको अच्छी तरह मालूम है कि आप क्या चाहते हैं, तो यह मददगार नहीं है। आप फेसबुक को वर्तनी लिखना कैसे सिखाते हैं? यदि अपने कीवर्ड के अनुसार नतीजें चाहते हैं, तो उद्धरण चिह्नों का उपयोग करें। सर्च करने के बाद अपने ब्राउजर में लिंक पर एक बार क्लिक करें और लिंक के अंत में &spell=1  जोड़ें। काफी संभावना है कि अब यह सटीक शब्दों की खोज करेगा।

यह तकनीक आपको फेसबुक में सर्च करने में कैसे मदद करती है? मान लीजिए, आप Grubhub अनुबंध के बारे में कोई पोस्ट ढूंढना चाहते हैं। आपको कुछ सटीक परिणाम दिख जाएंगे। लेकिन कुछ अवांछित चीजें भी दिख सकती हैं।

social searching via facebook spelling

इमेज- स्क्रीनशॉट, हेंक वैन एस

 

इसलिए आप जिस चीज की खोज कर रहे हैं, उसके लिए “&spell=1.”  का उपयोग करें। अब आपको केवल अनुबंध संबंधी नतीजे मिलेंगे।

social search facebook spelling tip

इमेज- स्क्रीनशॉट, हेंक वैन एस

किसी व्यक्ति की खोज करने के लिए फेसबुक को सही वर्तनी बताना जरूरी है। जैसे, आप ‘जोनोथन ब्राउन‘ की तलाश में हैं, ‘जोनाथन ब्राउन‘ की नहीं। तब आप कोष्ठक लगाएं और &spell=1 का उपयोग करें। जिस मित्र का नाम मिलता-जुलता हो, वह सबसे पहले आएगा। सूची के बाकी हिस्सों में नाम सही ढंग से लिखे गए हैं।

social search facebook name spelling tip

इमेज- स्क्रीनशॉट, हेंक वैन एस

 

फेसबुक सर्च की दस श्रेणियाँ

फेसबुक की डिफॉल्ट सर्च में 10 श्रेणियां हैं। किसी श्रेणी पर क्लिक करने से अतिरिक्त फिल्टर भी खुल जाएंगे। हम इसमें ‘पोस्ट‘ और ‘पिपुल‘ को देखेंगे।

सार्वजनिक पोस्ट की खोज

Facebook public post search

इमेज- स्क्रीनशॉट, हेंक वैन एस

सार्वजनिक पोस्टिंग की सर्च का तरीका यहां बताया गया है। आपको अपना कीवर्ड टाइप करना होगा। फिर पोस्ट पर क्लिक करना होगा और फिर सार्वजनिक पोस्ट का चयन करना होगा।

‘पोस्ट की तिथि‘ से आप केवल वर्ष की खोज कर सकते हैं, किसी विशिष्ट तिथि या अवधि की नहीं। इससे निपटने का तरीका नीचे दिए गए ‘आउट ऑफ द बॉक्स‘ अनुभाग में बताया गया है।

किसी व्यक्ति की खोज

डिफॉल्ट रूप से फेसबुक सर्च में आपको किसी विश्वविद्यालय के कर्मचारियों, निवासियों या छात्रों के सभी नामों की सूची नहीं मिल सकती है। ऐसी सूची उपलब्ध कराना फेसबुक के गोपनीयता नियमों के खिलाफ है। इसमें आप किसी नाम का एक हिस्सा डालकर सर्च कर सकते हैं।

लेकिन इससे खोजी पत्रकारों का काम नहीं चलेगा। किसी भूकंप क्षेत्र में रहने वाले लोगों, किसी दिवालिया कंपनी के कर्मचारियों या किसी विश्वविद्यालय के लोगों के नाम एक पत्रकार को नहीं मालूम। तब ऐसे लोगों की खोज कैसे कर सकते हैं? इन तीनों श्रेणियों के नाम खोजने का एक समाधान यहां दिया गया है।

कंपनी के लोगों की खोज

आपको किसी कंपनी या विभाग में काम करने वाले कर्मचारियों के नाम की खोज करनी है। सबसे पहले आप उनके ‘देश‘ का नाम लिखकर सर्च करे। यहां बताया गया है कि आप म्यांमार में स्वास्थ्य मंत्रालय के लिए काम करने वाले लोगों को किस तरह सर्च करेंगे-

  1. ‘म्यांमार‘ लिखकर सर्च करें।
  2. इसमें ‘पिपुल‘ पर क्लिक करें।
  3. फिर ‘वर्क‘ में कंपनी का नाम लिखें।
Facebook company employee search by country

इमेज- स्क्रीनशॉट, हेंक वैन एस

यदि आपको पता नहीं है कि लोग कहाँ रहते हैं, तो इस तरह सर्च करें:

  1. ‘ए‘ अक्षर लिखकर सर्च करें।
  2. फिर ‘पिपुल‘ पर क्लिक करें.
  3. इसके बाद ‘वर्क‘ में कंपनी का नाम लिखें।

इसमें आपको उन सभी लोगों की सूची मिल जाएगी जिनका नाम या उपनाम ‘ए‘ से शुरू होता है। यदि इससे काम नहीं चले तो एक-एक करके अन्य अक्षरों की खोज करें।

किसी क्षेत्र के निवासियों की खोज

अमेरिका के एक शहर ‘पैराडाइज‘ के जंगल में भीषण आग लगी। आप उस शहर के लोगों से संपर्क करना चाहते हैं। इस तरह सर्च करें:

Facebook resident search by town event

Image: Screenshot, Hank van Ess

  1. ‘पैराडाइज‘ लिखकर सर्च करें।
  2. फिर ‘पिपुल‘ पर क्लिक करें।
  3. ‘सिटी‘ में ‘पैराडाइज’, कैलिफोर्निया‘ लिखें।
Facebook resident search Paradise California

इमेज- स्क्रीनशॉट, हेंक वैन एस

 

छात्रों के नाम की खोज

  1. विश्वविद्यालय के नाम ‘स्टैनफोर्ड‘ की खोज करें।
  2. फिर ‘पिपुल‘ पर क्लिक करें।
  3. इसके बाद ‘एडुकेशन‘ में विश्वविद्यालय का नाम लिखें।

 

Facebook student university search Stanford

इमेज- स्क्रीनशॉट, हेंक वैन एस

 

 

 

 

 

 

 

 

किसी फेसबुक ‘ग्रूप‘ में सर्च कैसे करें

कोई कीवर्ड टाइप करके अगर आप ‘ग्रूप‘ पर क्लिक करते हैं, तो यह नहीं देख पाएंगे कि ‘ग्रूप‘ में क्या पोस्ट किया गया है। आपको केवल ‘ग्रूप‘ के नाम देखने को मिलेंगे। लेकिन किसी ‘ग्रूप‘ में लोगों ने क्या पोस्ट किया है, यह जानने का तरीका नीचे ‘आउटसाइड द बॉक्स‘ में पढ़ें।

‘टॉप स्टोरीज‘ कैसे देखें

फेसबुक डिफॉल्ट रूप से ‘टॉप स्टोरीज‘ प्रदर्शित करता है। सर्वाधिक साझा की गई और अधिक कमेंट वाले पोस्ट की सूची दिखती है। ऐसे पोस्ट को कालक्रमानुसार देखना भी संभव है। यहां बताया गया है कि इसे आप अपनी जरूरत के अनुसार कैसे बदल सकते हैं-

‘टॉप स्टोरीज‘ –http://www.facebook.com/?sk=h_nor

कालक्रमानुसार – http://www.facebook.com/?sk=h_chr

आउटसाइड द बॉक्स: लीक से हटकर

किसी खास समय की खोज

कौन-सा कीवर्ड कब पोस्ट किया गया था, इसकी खोज के लिए निःशुल्क टूल ‘हू पोस्टेड व्हाट‘ (Who Posted What) का उपयोग करें। यह मेरा अपना उपकरण है। यह मुफ्त है। आप इसमें ‘डोनेट‘ वाले बटन पर ध्यान न दें।

Facebook time search

इमेज- स्क्रीनशॉट, हेंक वैन एस

यह कैसे काम करता है?

यह फेसबुक के डिफॉल्ट सर्च को नजरअंदाज कर देता है। अब आप किसी भी तारीख, अवधि या किसी विशेष वर्ष की खोज कर सकते हैं। यह ध्यान रखें कि आप फेसबुक की मानक खोज को नजरअंदाज कर रहे हैं। अगर आप समय बदलना चाहते हैं तो इस टूल में करें, फेसबुक पर नहीं।

फेसबुक ग्रूप में किसी व्यक्ति की खोज

फेसबुक ग्रूप दो प्रकार के होते हैं- सार्वजनिक (पब्लिक) और गुप्त (सीक्रेट)। सार्वजनिक समूह सबके लिए खुले हैं। कोई भी उनमें पोस्ट और टिप्पणियाँ पढ़ सकता है। गुप्त समूह केवल सदस्यों को दिखाई देते हैं। केवल सदस्य ही पोस्ट और टिप्पणियाँ देख सकते हैं। लेकिन वर्ष 2020 से फेसबुक ने सभी लोगों को सार्वजनिक समूहों की सामग्री पढ़ने सुविधा दी है, भले ही वे सदस्य न हों।

आप फेसबुक के सामान्य खोज बॉक्स के माध्यम से सार्वजनिक समूहों की पोस्टिंग नहीं खोज सकते हैं।

कारण यह है कि फेसबुक का सर्च इंजन आपके दोस्तों, आपके द्वारा फॉलो किए जाने वाले पेजों और समूहों और अन्य सामग्री को प्राथमिकता देता है। यह आम तौर पर सार्वजनिक समूहों से सामग्री को अनुक्रमित नहीं करता है। इसके कारण इस प्लेटफॉर्म पर खोज करके सामग्री ढूंढना मुश्किल हो जाता है। सौभाग्यवश, फेसबुक की तुलना में गूगल अधिक व्यापक खोज परिणाम देने में सक्षम है।

हम केवल सार्वजनिक फेसबुक समूहों (facebook.com/groups) में खोजना चाहते हैं- ‘आई वाज अटैक्ड टुडे‘ – तो यह उदाहरण देखें।

इसमें आपको किसी ‘ग्रूप‘ को ढूँढ़ने के बजाय पहले एक पोस्ट की खोज करना है। यदि आपको अपनी आवश्यकता के अनुसार पोस्ट मिलती है, तो उस ‘ग्रूप‘ का नाम भी मिल जाएगा। यह आपको समान रुचि वाले लोगों को खोजने की सुविधा देता है।

Facebook search specific time

इमेज- स्क्रीनशॉट, हेंक वैन एस

 

पेशेवर लोगों की खोज करें

फेसबुक के अबाउट पेज में एक तरह का काम करने वाले पेशेवरों की सूची शामिल होती है। केवल ‘अबाउट‘ पेज पर खोज करके आप तुरंत संभावित स्रोतों की एक सूची पा सकते हैं।

Google search in Facebook

इमेज- स्क्रीनशॉट, हेंक वैन एस

 

गैर-व्यावसायिक उपयोग हेतु इस लेख को पुनः पोस्ट करने का जीआईजेएन स्वागत करता है। लेकिन कृपया आप हमारे क्रिएटिव कॉमन्स लाइसेंस एग्रीमेंट (Creative Commons license agreement) का पालन करें।

अतिरिक्त संसाधन

Social Search Techniques Using LinkedIn, from Henk van Ess

Social Search Techniques Using Instagram, from Henk van Ess

Social Search Techniques Using TikTok and Telegram, from Henk van Ess


सोशल मीडिया सर्च विशेषज्ञ हेंक वैन एस वेब और एआई की मदद से ओपनसोर्स इंटेलिजेंस के बारे में पढ़ाते हैं। वे अनुभवी व्याख्याता और प्रशिक्षक हैं। इंटरनेट अनुसंधान कार्यशालाओं के लिए दुनिया भर में यात्रा करते हैं। उनकी परियोजनाओं में डिजिटल डिगिंग ) (एआई और रिसर्च), फैक्ट-चेकिंग द वेब, हैंडबुक डेटा जर्नलिज्म (मुफ्त डाउनलोड) और सोशल मीडिया और वेब रिसर्च विशेषज्ञ के वक्ता के रूप में शामिल है।

क्रिएटिव कॉमन्स लाइसेंस के तहत हमारे लेखों को निःशुल्क, ऑनलाइन या प्रिंट माध्यम में पुनः प्रकाशित किया जा सकता है।

आलेख पुनर्प्रकाशित करें


Material from GIJN’s website is generally available for republication under a Creative Commons Attribution-NonCommercial 4.0 International license. Images usually are published under a different license, so we advise you to use alternatives or contact us regarding permission. Here are our full terms for republication. You must credit the author, link to the original story, and name GIJN as the first publisher. For any queries or to send us a courtesy republication note, write to hello@gijn.org.

अगला पढ़ें

Using Social Network Analysis for Investigations YouTube Image GIJC23

रिपोर्टिंग टूल्स और टिप्स

खोजी पत्रकारिता के लिए उपयोगी है ‘सोशल नेटवर्क एनालिसिस’

सोशल नेटवर्क एनालिसिस। यह कनेक्शन, पैटर्न और अनकही कहानियों की एक आकर्षक दुनिया है। पत्रकारों के टूलकिट में यह एक नई शक्तिशाली सुविधा जुड़ी है। यह हमारी दुनिया को आकार देने वाले रिश्तों के छिपे हुए जाल को उजागर करने में सक्षम बनाती है। यह केवल बिंदुओं को जोड़ने तक सीमित नहीं है। इससे सतह के नीचे मौजूद जटिल कहानियां भी उजागर हो सकती हैं।

रिपोर्टिंग टूल्स और टिप्स

एआई (AI) और अंतरराष्ट्रीय साझेदारी खोजी पत्रकारिता के लिए कैसे उपयोगी है

स्वीडन में तेरहवीं ग्लोबल इन्वेस्टिगेटिव जर्नलिज्म कांफ्रेंस के एक पैनल में एआई (आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस) को समझने और अंतरराष्ट्रीय सहयोग के जरिए काम करने पर चर्चा हुई। इस पर तीन विशेषज्ञ पत्रकारों ने सुझाव दिए।

threats democracy journalism tips expose disinformation

रिपोर्टिंग टूल्स और टिप्स

लोकतंत्र पर पांच खतरे और उन्हें उजागर करने के लिए तरीके

फर्जी खबरों की तुलना में सत्य को विकृत करना अधिक प्रभावी है। यह एक जैसी आवाज की प्रतिध्वनि वाले इकोसिस्टम या इको चैंबर बनाने जैसी स्थिति है। इसमें एक ही बात को दोहराने और आगे बढ़ाने के लिए संयोजन या समन्वय में काम करने वाली कई पार्टियां हैं। ये समूह इसे टीवी, इंटरनेट और रेडियो पर प्रसारित करते हैं। लोग एक ही चीज को बार-बार सुनते हैं, तो वह कथा वास्तविक का आधार बन जाती है। इसके कारण साक्ष्य-आधारित रिपोर्टिंग को अब जरूरी नहीं समझा जाता। यह एक बड़ा खतरा है।

टिपशीट जलवायु रिपोर्टिंग टूल्स और टिप्स

जलवायु परिवर्तन पर अपनी सरकार को जवाबदेह कैसे बनाएं

प्रत्येक देश की स्वैच्छिक प्रतिज्ञाओं का वर्णन करने वाले मूल दस्तावेज़ को ‘नेशनली डिटरमाइंड कॉन्ट्रिब्यूशन’ (एनडीसी) कहा जाता है। जलवायु परिवर्तन पर पेरिस समझौते में 194 देशों ने हस्ताक्षर किए हैं। इनमें से प्रत्येक देश ने कम-से-कम एक एनडीसी प्रस्तुत किया है। इन्हें UNFCCC में सूचीबद्ध किया गया है ।