Topic

डेटा पत्रकारिता

10 posts

डेटा पत्रकारिता

डेटा जर्नलिज़्म: पत्रकारों के लिए ‘मानक विचलन’ से सबंधित 4 जरूरी बातें

डेटा के मानकीकरण की प्रक्रिया में प्रत्येक संख्यात्मक डेटा बिंदु को डेटासेट के ‘मानक विचलन’ से विभाजित किया जाता है। ऐसा करने से माप की इकाइयों में परिवर्तन होता है। सामान्य इकाइयों जैसे औंस, इंच, पाउंड या किलोग्राम का उपयोग करके निष्कर्ष बताने के बजाय इन्हें ‘मानक विचलन’ के रूप में रिपोर्ट करना चाहिए।

डेटा पत्रकारिता रिपोर्टिंग टूल्स और टिप्स

पत्रकारों को ‘सांख्यिकीय महत्व’ पर ये 5 बातें अवश्य जानना चाहिए

अकादमिक पत्रिकाएं अक्सर ‘सांख्यिकीय महत्व’ वाले परिणामों के साथ अनुसंधान को प्राथमिकता देती हैं। इसलिए शोधकर्ता अक्सर उस दिशा में अपने प्रयास केंद्रित करते हैं। कई अध्ययनों से पता चलता है कि सांख्यिकीय रूप से महत्वपूर्ण निष्कर्षों वाले रिसर्च पेपर्स के प्रकाशित करने की अधिक संभावना रहती है।

क्रियाविधि डेटा पत्रकारिता समाचार और विश्लेषण

सरकारी डेटा न मिले, तो घृणा आधारित अपराधों की रिपोर्टिंग कैसे करें?

क्राउड-सोर्सिंग पर आधारित ऐसी परियोजनाओं में कई तरह की चुनौतियां भी होती हैं। सूचनाओं एवं डेटा की गुणवत्ता सुनिश्चित करना एक बड़ा काम है। प्रविष्टियों का दोहराव, रोकना तथा हर रिपोर्ट का सत्यापन करना भी आसान नहीं है। परिणामों की व्याख्या में भी किसी पूर्वाग्रह से बचना एक बड़ी चुनौती है। ऐसे जोखिम के प्रति सचेत रहते हुए यह कोशिश करने लायक है।

डेटा पत्रकारिता

पत्रकारिता की नई ताक़त है आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) लेकिन दायित्व भी कम नहीं

प्रत्येक एआई टूल को हरेक मीडिया संस्थान की खास जरूरत के अनुसार सेट करना होगा। किसी मशीन को आपकी पत्रकारिता के  मूल्यों और दृष्टिकोण की जानकारी नहीं है। कोई मशीन यह तय नहीं कर सकती कि आपके लिए कौन-से मूल्य महत्वपूर्ण हैं। यह एक मानवीय निर्णय है।

टिपशीट संसाधन

डेटा जर्नलिज्म: संपादकों के लिए टिप्स

यदि एक रिपोर्टर को किसी स्रोत से जानकारी मिलती है कि इमारतों में आग लगने की घटनाएं पिछले साल की तुलना में 25 फीसदी बढ़ गई हैं, तो संपादक उसे ऐसे आंकड़ों की तलाश में जाने के लिए कह सकते हैं जो इस तरह के सवालों के जवाब देते हों : “क्या ये घटनाएं मुख्यतः घरों में आग लगने की थीं? क्या ऐसी घटनाओं में हुई तेज वृद्धि के पीछे लोगों का धूम्रपान करना या स्पेस हीटर लगाने जैसा कोई कारण मौजूद था? ”

डेटा पत्रकारिता रिपोर्टिंग टूल्स और टिप्स

डेटा को समझने और प्रस्तुतीकरण के कुछ ज़रूरी टिप्स

डेटा प्रोसेसिंग और डेटा साक्षरता बहुत जरूरी है। यदि हम सभी आवश्यक कारकों को ध्यान में नहीं रखते हैं और आवश्यक प्रासंगिक विश्लेषण के बिना निष्कर्ष निकालते हैं, तो हम लोगों का ध्यान गलत जगह ले जायेंगे। इससे हम अनजाने में लोगों को को नुक़सान पहुंचा सकते हैं

डेटा पत्रकारिता

रेडियो रिपोर्टिंग में डेटा का उपयोग कैसे करें?

रेडियो एक ऐसा माध्यम है, जिसमें हम कोई ‘दृश्य‘ नहीं दिखा सकते हैं। ऑडियो स्क्रिप्ट में आंकड़ों और संख्याओं के उपयोग को भी प्रारंभ से ही अनुचित समझा जाता है। इसके कारण डेटा के मामलों में अन्य मीडिया प्रारूपों की तुलना में रेडियो पत्रकारिता को सीमित समझा जाता है। हालांकि, विशेषज्ञों का कहना है कि नए उपकरण और तकनीक के जरिए रेडियो पत्रकार अपनी खबरों को बेहतर बना सकते हैं। वे अपनी ऑडियो स्टोरीज के डिजिटल संस्करणों में डेटा का समुचित उपयोग कर सकते हैं।

डेटा पत्रकारिता

डेटा और विजुअल जर्नलिज्म के इन विशेष प्रोजेक्ट के कारण आसान हुई कोविड महामारी की व्याख्या

कोविड-19 ने अंततः यह जता दिया है कि डेटा विश्लेषण कभी भी जुनून नहीं रहा है, लेकिन 21वीं सदी की पत्रकारिता के लिए यह एक मूलभूत आवश्यकता जरूर बन गया है। इस अर्थ में, कोविड महामारी ने मीडिया और उन पत्रकारों को निखारा है, जिन्होंने पिछले एक दशक में तथ्यों को लगातार पेश करने के अपने तरीके को मजबूत किया है।

डेटा पत्रकारिता

कोविड-19 डेटा को चित्रांकन के माध्यम से प्रस्तुत करने के 10 टिप्स

डेटा चित्रांकन में अंकों, रंगों और अलग-अलग चार्ट व बार के उपयोग से न सिर्फ कम स्थान पर ज्यादा जानकारियों को प्रस्तुत किया जा सकता है, बल्कि रिपोर्ट को बोझिल होने से बचाते हुए रोचकता प्रदान की जा सकती है।

डेटा पत्रकारिता रिपोर्टिंग टूल्स और टिप्स

पीडीएफ फ़ाइल से डेटा कैसे निकालें ?

ऐसे कई उपकरण हैं, जो डेटा को बेहद कम समय में बेहद आसानी से आपके उपयोग लायक बना सकते हैं। मैंने जिन उपकरणों को सफलतापूर्वक आजमाया है, उनकी जानकारी यहां प्रस्तुत है। साथ ही, पीडीएफ से जुड़े कई सुझाव दिए गए हैं, जिनमें रोटेटेड टेबल का उपयोग, स्कैन किए गए पीडीएफ को बदलने तथा पासवर्ड संरक्षित पीडीएफ संबंधी मामले शामिल हैं।