स्वास्थ्य और ओषधि पर इन्वेस्टिगेटिव रिपोर्टिंग के लिए GIJN की गाइड

यह गाइड दवाओं और चिकित्सा उपकरणों पर केंद्रित है। इसका उद्देश्य पत्रकारों में स्वतंत्र रूप से सबूतों का आकलन करने और किसी भी उत्पाद या नीति के जोखिम-लाभ अनुपात के सटीक मूल्यांकन की समझ विकसित करना है। जिससे वे किसी भी प्रकार के भ्रष्टाचार या कदाचार को उजागर कर सकें। अपने दैनिक कार्यों के बीच अपनी सुविधा के अनुसार इस गाइड का अध्धयन किया जा सकता है।

वर्ल्ड बैंक कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए कितना पैसा किस-किस को दे रहा है

विश्व बैंक की कई परियोजनाएं हैं। हालांकि, ज्यादातर मामलों में यह गाइड “कोविड -19 फास्ट-ट्रैक सुविधा” से संबंधित है, जो मुख्य रूप से महामारी से निपटने के लिए आवश्यक खरीदारी की समर्थन देता है। इस परियोजना में लगभग 75 देश शामिल हैं।

विश्व बैंक के पास कोविड -19 इकोनॉमिक क्राइसिस एंड रिकवरी डेवलपमेंट पॉलिसी फाइनेंसिंग नामक एक अन्य परियोजना है। इससे 70 देशों को सहायता प्राप्त हो रही है। उनमें से कई फास्ट-ट्रैक प्रोग्राम से भी लाभान्वित होते हैं। इस परियोजना का पैसा मुख्य रूप से आर्थिक विकास के लिए है। उदाहरण के लिए, सरकारी परियोजनाओं का समर्थन करना या निजी क्षेत्र के निवेश को प्रोत्साहित करना।

डेटा और विजुअल जर्नलिज्म के इन विशेष प्रोजेक्ट के कारण आसान हुई कोविड महामारी की व्याख्या

कोविड-19 ने अंततः यह जता दिया है कि डेटा विश्लेषण कभी भी जुनून नहीं रहा है, लेकिन 21वीं सदी की पत्रकारिता के लिए यह एक मूलभूत आवश्यकता जरूर बन गया है। इस अर्थ में, कोविड महामारी ने मीडिया और उन पत्रकारों को निखारा है, जिन्होंने पिछले एक दशक में तथ्यों को लगातार पेश करने के अपने तरीके को मजबूत किया है।

कोविड-19 डेटा को चित्रांकन के माध्यम से प्रस्तुत करने के 10 टिप्स

डेटा चित्रांकन में अंकों, रंगों और अलग-अलग चार्ट व बार के उपयोग से न सिर्फ कम स्थान पर ज्यादा जानकारियों को प्रस्तुत किया जा सकता है, बल्कि रिपोर्ट को बोझिल होने से बचाते हुए रोचकता प्रदान की जा सकती है।