वर्ल्ड बैंक कोविड-19 महामारी में कितना पैसा किस-किस को दे रहा है, जानने के तरीक़े

Print More

 

Photo: World Bank / Simone D. McCourtie

कोविड-19 महामारी की वजह से पिछले एक साल में कई देशों में आर्थिक स्थिति लॉकडाउन की वजह से बेहद खराब हो चुकी है।  भारत भी इससे अछूता नहीं है। कोविड -19 महामारी के इस दौर में वर्ल्ड बैंक ने कई देशों को वित्तीय सहायता प्रदान की है। वर्ल्ड बैंक द्वारा अब तक 100 से अधिक देशों को लगभग 14 बिलियन (1 लाख करोड़ रुपए) की आर्थिक सहायता दी जा चुकी है और यह निरंतर जारी है। लेकिन यह पैसा कैसे खर्च किया जा रहा है? और किन्हें ये मदद दी जा रही है? इसकी पड़ताल (ट्रैकिंग) बहुत जरूरी है। यदि इस आर्थिक सहायता पर शोध करना चाहते हैं, तो आप विश्व बैंक के ऑनलाइन डेटा के साथ राष्ट्रीय खरीद रिकॉर्ड की मदद ले सकते हैं।

इस संसाधन का उद्देश्य आर्थिक सहायता पर शोध को प्रोत्साहित करना है। हम यहाँ बताएंगे कि कैसे जटिल कहे जाने वाले वर्ल्ड बैंक रिकॉर्ड सिस्टम को समझ उससे  लक्षित जानकारी प्राप्त करना है। हम राष्ट्रीय स्तर पर खरीद रिकॉर्ड में शोध के साथ इन दस्तावेजों का उपयोग करने के तरीके भी सुझाएंगे। इसके अलावा, GIJN video देखें, जिसमें बताया गया है कि किसी देश को मिली  COVID-19 सहायता के बारे में विश्व बैंक के दस्तावेजों का उपयोग कैसे किया जाए।

विश्व बैंक विकासशील देशों का सबसे बड़ा अंतरराष्ट्रीय वित्तीय सहायक या दाता है। वहीं कई अन्य संगठनों (जैसे इंटर-अमेरिकी विकास बैंक, अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF)) द्वारा भी अरबों डॉलर की फंडिंग की जा रही है। विवरण के लिए,  Devex का यह लेख देखें। इसके अलावा, दानकर्त्ता वेबसाइटों पर जाएं।

डेवेक्स के अनुसार, पिछले जनवरी से दानदाता देशों और निजी संस्थाओं ने कोविड -19 से त्वरित और दीर्घकालिक मुकाबले के लिए 20 ट्रिलियन डॉलर लगभग 1 लाख 46 हजार करोड़ रुपए की मदद जारी की है। डोनर फंडिंग की विस्तृत जानकारी के लिए, यहां वर्णित कोविड -19 फंडिंग ट्रैकिंग प्रोटोटाइप देखें।

इंटरनेशनल अकाउंटेबिलिटी प्रोजेक्ट द्वारा Early Warning System COVID-19 DFI Tracker भी इसमें मददगार साबित हो सकता है जो प्रमुख रूप से डेवलपमेन्ट  बैंकों द्वारा तैयार किया गया है। टिप्सः आप अपने देश की परियोजनाओं के बारे में पोस्ट की गई नई जानकारी के लिए RSS फ़ीड में जाकर साइन अप कर सकते हैं (याद रखें, इनमें सभी नए प्रोजेक्ट दस्तावेज़ों की जानकारी शामिल नहीं हो सकती हैं)।

वर्ल्ड बैंक सिस्टम भी प्रत्येक देश के बारे में ईमेल अलर्ट देता है। अंतरराष्ट्रीय प्रोजेक्ट के बाद भी स्थानीय जानकारी प्राप्त करने की आवश्यकता बनी रहती है, विशेष रूप से अनुबंधों के बारे में। GIJN की गाइड देखें: Researching Government Contracts for COVID-19 Spending

कुछ राष्ट्रीय खरीद प्रकटीकरण प्रणालियों में सुधार की आवश्यकता है। क्योकि इनमें निधि के दुरुपयोग की आशंकाएं बढ़ जाती है, खासकर जब यह आपातकालीन परिस्थितियों में जारी हो। इसे ध्यान रखते हुए, विश्व बैंक,आईएमएफ और अन्य संस्थानों ने राष्ट्रीय खरीद प्रणाली को बेहतर बनाने के लिए कदम उठाए हैं जिससे निधि को खर्च करते समय दुरुपयोग की आशंका काम से काम हो। कुछ गैर-सरकारी संगठनों ने भी प्रभावी और मजबूत उपायों का आह्वान किया है।

वर्ल्ड बैंक कोविड-19 प्रोजेक्ट का पालन कैसे करें और कुछ स्टोरी आइडिया

कोविड -19 को संभालने के लिए जो पैसा खर्च किया जा रहा है, उस पर अब हर किसी का ध्यान है। इस तरह की कई रिपोर्ट विश्व बैंक के दस्तावेजों को देखकर ही बनाई जा सकती हैं। जैसे कि:

  • कोविड -19 से निपटने के लिए प्राप्त धन के साथ किसी तरह की धोखाधड़ी और भ्रष्टाचार हो रहा है?
  • आपके देश में इस धन के साथ क्या करने की योजना है?
  • विश्व बैंक द्वारा निर्धारित लक्ष्य क्या हैं,और आपका देश उन पर कितना खरा उतर रहा है ?
  • स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र के सुधार से यह धन किस तरह सम्बंधित है ?
  • क्या बिना किसी निविदा के या प्रतिस्पर्धी बोली के माध्यम से खरीद समझौते किए जा रहे हैं?
  • किस तरह के समझौते पर हस्ताक्षर किए गए हैं?
  • क्या खरीद योजनाओं में कोई बदलाव हुआ है?
  • क्या खरीद प्रक्रिया में अधिक समय लग रहा है?

विश्व बैंक के दस्तावेजों और  राष्ट्रीय खरीद सूचनाओं के उपयोग से निम्न विषयों पर रिपोर्ट बनाई जा सकती है:

  • अनुबंध /कांट्रेक्ट किसे मिला ?
  • अनुबंधकर्ता/ कांट्रेक्टर कौन है ?
  • क्या उत्पादों (सामान) को वितरित किया गया था?
  • क्या काम हो गया?

आइए शुरू करें।

विश्व बैंक कोविड -19 फंडिंग को ट्रैक करने के लिए कार्यपुस्तिका

विश्व बैंक की कई परियोजनाएं हैं। हालांकि, ज्यादातर मामलों में यह गाइड “कोविड -19 फास्ट-ट्रैक सुविधा” से संबंधित है, जो मुख्य रूप से महामारी से निपटने के लिए आवश्यक खरीदारी की समर्थन देता है। इस परियोजना में लगभग 75 देश शामिल हैं।

विश्व बैंक के पास कोविड -19 इकोनॉमिक क्राइसिस एंड रिकवरी डेवलपमेंट पॉलिसी फाइनेंसिंग नामक एक अन्य परियोजना है। इससे 70 देशों को सहायता प्राप्त हो रही है। उनमें से कई फास्ट-ट्रैक प्रोग्राम से भी लाभान्वित होते हैं। इस परियोजना का पैसा मुख्य रूप से आर्थिक विकास के लिए है। उदाहरण के लिए, सरकारी परियोजनाओं का समर्थन करना या निजी क्षेत्र के निवेश को प्रोत्साहित करना।

निजी क्षेत्र को विश्व बैंक की सहायता International Finance Corporation,के माध्यम से दी जाती है। जो इससे लाभान्वित हो रहे हैं उन्हें पहले से ही और अधिक पारदर्शी होने का आग्रह किया गया है।

भाग 1: विश्व बैंक की वेबसाइट पर कैसे जानकारी खोजें

पहला चरण — क्या विश्व बैंक ने आपके देश में कोविड -19 से संबंधित खरीद में सहायता की है?

विश्व बैंक की वेबसाइट (www.worldbank.org) पर कोविड -19 से निपटने के लिए उठाए गए कदमों के बारे में एक पेज है। इसके मुख्य पृष्ठ पर नीचे स्क्रॉल करें और आपको वास्तव में नीचे “Resources” नामक एक बॉक्स मिलेगा। यहां देख सकते हैं कि किन देशों को विश्व बैंक द्वारा वित्तीय सहायता प्रदान की जा रही हैं। इस पेज में World Bank Group’s Operational Response to COVID-19 (coronavirus) – Projects List” अपडेट रखा जाता है।

प्रत्येक देश द्वारा दिए गए लिंक पर जाकर एक प्रेस विज्ञप्ति प्राप्त की जा सकती है। जहां सभी महत्वपूर्ण जानकारी और परियोजना में शामिल लोगों के नाम और पते हैं।  हालांकि, कोई विवरण नहीं हैं।  प्रत्येक देश के लिए एक अलग पृष्ठ है और दाईं ओर “Related” टैब में बैंक के होम पेज पर प्रत्येक देश के लिए विशिष्ट पृष्ठ का एक लिंक है। उदाहरण के लिए: “The World Bank in Benin,”। हालांकि, देश भर में बनाए गए ये पेज कोविड -19 फंड पर शोध करने के लिए बहुत काम के नहीं होंगे। लेकिन, यहां आपको विश्व बैंक के कुछ और अधिकारियों के नाम मिलेंगे।
हैं। कई अन्य अच्छे दस्तावेज यहां देखे जा सकते हैं।

प्रत्येक देश द्वारा दिए गए लिंक पर जाकर एक प्रेस विज्ञप्तियां प्राप्त की जा सकती हैं। जहां महत्वपूर्ण जानकारी और परियोजना में शामिल लोगों की जानकारी है। हालांकि, यहां विवरण बहुत ज्यादा नहीं हैं। प्रत्येक देश के लिए एक अलग पृष्ठ भी है और दाईं ओर “Related” टैब में बैंक के होम पेज पर प्रत्येक देश के लिए विशिष्ट पृष्ठ का एक लिंक है। उदाहरण के लिए: “The World Bank in Benin,”। हालांकि, देश भर में बनाए गए ये पेज कोविड-19 फंड पर शोध के लिए बहुत उपयोगी साबित नहीं होते लेकिन, आपको यहाँ कुछ और अधिकारियों के नाम मिलेंगे।
हैं। कई अन्य अच्छे बैंक दस्तावेज यहां देखे जा सकते हैं।

दूसरा चरण  – अपने देश में विश्व बैंक की गतिविधियों का पता लगाना

बैंक-समर्थित कोविड-19 परियोजनाओं के बारे में देश-स्तरीय विवरण के लिए projects and operations page पर  देखें। यहां प्रभावित देशों की एक और सूची है। यहां से एक देश चुनें।

तीसरा चरणः अपने देश में कोविड -19 परियोजनाओं पर दस्तावेज़ खोजें

एक बार प्रोजेक्ट्स और ऑपरेशंस पेज पर देश का विकल्प चुने जाने का बाद, आपको शुरुआत में पेज का शीर्षक दिखाई देगा: “हाल ही में स्वीकृत प्रोजेक्ट्स (Recently Approved Projects)।”

यहां से Covid-19 Emergency Preparedness and Response Project लाइन पर क्लिक करें, या ( “Covid-19 Economic Crisis and Recovery Development Policy.”)

यहां क्लिक करने पर आप  “Project Details” पृष्ठ पर पहुंच जाएंगे, जहां आपको पूरी परियोजना की लागत, धन का स्रोत, टीम लीडर और प्रोजेक्ट आईडी नंबर जैसी सामान्य जानकारी मिलेगी।

टीम लीडर का नाम दिया गया है, लेकिन ईमेल  नहीं दिया गया है। हालांकि, विश्व बैंक के कर्मचारियों के ईमेल आमतौर पर इस प्रकार हैं: (पहला नाम) (अंतिम नाम) @ worldbank.org

“Results Framework” देखने के लिए इस पृष्ठ के नीचे स्क्रॉल करें। देखने के लिए इस पृष्ठ के नीचे स्क्रॉल करें। यहां 10 से 12 श्रेणियों में सरकार के लक्ष्य संक्षेप में दर्शाये हैं। उदाहरण के लिए: ‘आइसोलेशन सिस्टम के साथ स्वास्थ्य देखभाल केंद्रों का निर्माण’।

चेतावनी: इस पृष्ठ पर चार्ट पर संख्या कभी-कभी प्रतिशत और कभी-कभी वास्तविक संख्याओं को संदर्भित करती है। परिणाम में दोनों के बीच कोई अंतर नहीं है। इससे भ्रम की स्थिति पैदा हो सकती है। लेकिन अब यह स्पष्ट है कि हम पूर्ण दस्तावेज़ (“प्रोजेक्ट मूल्यांकन दस्तावेज़”) के बारे में बात करने जा रहे हैं।

चौथा चरणः पैसा खर्च करने के बारे में विस्तृत जानकारी एकत्र करें

वहां पहुंचने के लिए, अपने देश के पृष्ठ “कोविड -19 तैयारी और प्रतिक्रिया परियोजना” के शीर्ष पर “Documents” पर क्लिक करें । (अभी आप जहां हैं, अगर आपने अब तक इस दिशानिर्देश का पालन किया है)।

यहां आपको इस परियोजना से संबंधित सभी दस्तावेज मिलेंगे। इनमें “कार्यान्वयन स्थिति और परिणाम रिपोर्ट (ISR)”, “खरीद योजनाएं”, “परियोजना मूल्यांकन दस्तावेज़ (PAD)”, “पर्यावरण और सामाजिक समीक्षा (ESR)” और कई चीजें शामिल हैं। विश्व बैंक इन दस्तावेजों को देश की सरकार के साथ मिलकर तैयार करता है जिसके लिए सहायता प्रदान की जा रही है।

परियोजना की पूरी तस्वीर और कुछ अहम विवरणों के लिए, “प्रोजेक्ट मूल्यांकन दस्तावेज़ (PAD)” पढ़ें।

नोट: “कोविड -19 इकोनॉमिक क्राइसिस एंड रिकवरी डेवलपमेंट पॉलिसी फाइनेंसिंग” – इस परियोजना के लिए एक अन्य महत्वपूर्ण दस्तावेज “प्रोग्राम डॉक्यूमेंट” है।

PAD में कई दिलचस्प विवरण शामिल हैं। यह परियोजना के लक्ष्यों का वर्णन करता है और सफलता के मूल्यांकन के लिए संकेतक देता है। यहां कई और प्रासंगिक संदर्भ हैं। उदाहरण के लिए, “तैयारी” पैमाने पर किसी देश का स्कोर क्या है। [ हाल ही में, कुछ देशों के लिए एक परियोजना प्रगति रिपोर्ट (ISR) भी जारी की गई है।]

उदाहरण के लिए, सिएरा लियोन की 27 मार्च की PAD या 8 जुलाई की ISR देखें..।

अधिक जानकारी के लिए “Procurement Plan”, (प्रोक्योरमेंट प्लान) देखें।

कई देशों में, “प्रोक्योरमेंट प्लान” के कई संस्करण उपलब्ध हैं। तो सबसे हालिया दस्तावेज़ से शुरू करें। (नोट: विभिन्न अवधियों के दस्तावेजों की तुलना करके, आप देख सकते हैं कि किन वस्तुओं को छोड़ा या जोड़ा गया है।

पांचवा चरण- खरीद योजना की जांच करें

एक बार जब आप “प्रोक्योरमेंट प्लान” लाइन पर क्लिक करते हैं, तो आपको एक दस्तावेज़ से संबंधित एक विशिष्ट पृष्ठ पर ले जाया जाएगा। इस दस्तावेज़ में आप देख सकते हैं कि किस तरह की चीजें या उपकरण खरीदने की योजना है, किस तरह के क्लीनिक बनाए जाएंगे।

इस दस्तावेज़ से आपको सभी महत्वपूर्ण जानकारी मिल जाएगी। जैसे ही आप स्प्रेडशीट पर ज़ूम करते हैं और प्रत्येक सेक्शन से गुज़रते हैं, तो आप देखेंगे:

  • पूर्ण किए गए प्रत्येक अनुबंध का संक्षिप्त विवरण।
  • परियोजना के लिए अनुमानित राशि..।
  • अनुबंध कैसे करें। यहां आप देख सकते हैं कि किस हद तक “कोई अनुबंध बोली नहीं (“no contract bids”) (एनसीबी)” और “Direct Contracting” विधियों का उपयोग किया गया है।
  • बोली नोटिस की तिथि ((जहां लागू हो))
  • अनुबंध पर हस्ताक्षर करने की संभावित तिथि। कुछ परियोजनाएं “रद्द” या “हस्ताक्षरित” या “लंबित कार्यान्वयन” के रूप में दिखा सकती हैं।

हालांकि, स्प्रैडशीट से आपको यह जानकारी नहीं मिलेगी कि किस के साथ अनुबंध किया गया है।

उदाहरण के लिए: घाना की 18 जून की खरीद योजना देखें...

छठवां चरण- अधिक जानकारी के लिए विश्व बैंक की वेबसाइट पर कहीं और देखें

“Project Details” पृष्ठ पर वापस जाएं। वहां जाने के लिए आपको फिर से इस पृष्ठ पर जाने की जरूरत है और अपने देश का चयन करें और COVID-19 Preparedness and Response Project.”लाइन पर क्लिक करें

अब इस पृष्ठ पर आने के बाद, शीर्ष पर “खरीद” (Procurement) टैब पर क्लिक करें।

यह पृष्ठ दिखा सकता है, “इस परियोजना के लिए कोई खरीद सूचना उपलब्ध नहीं है।” या आप इस बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं कि किसके साथ किस तरह का निविदा प्रस्तावों या खरीद समझौता किया गया है।

प्रत्येक समझौते के लिए, आपको निम्नलिखित जानकारी मिलेगी:

  • एक लाइन में अनुबंध के उद्देश्य का विवरण।
  • ठेकेदार का नाम
  • ठेकेदार का पता
  • कॉन्ट्रैक्ट की अवधि
  • अनुबंध की वित्तीय राशि
  • बोली/अनुबंध संदर्भ संख्या
  • समझौते की तारीख

हालांकि, बैंक स्वयं अनुबंध से नहीं जुड़ता है। अब तक, वहां बहुत अधिक लिस्टिंग भी नहीं हैं। सूची अभी भी छोटी है।

आप विश्व बैंक की सहायता से की गई खरीद के बारे में अधिक जानकारी “प्रोक्योरमेंट परिणाम” Procurement Results नामक एक अन्य पेज पर प्राप्त कर सकते हैं। यहां कोविड -19 सहित सभी प्रकार की खरीदारी की जानकारी है। इस पृष्ठ पर जाकर, आप देश के नाम से खोज सकते हैं, लेकिन परियोजना से नहीं। नतीजतन, आप कोविद -19 से संबंधित परियोजनाओं को अलग से नहीं खोज पाएंगे।

उदाहरण के लिए बैंक दस्तावेज़ों को देखें: केन्या की प्रोक्योरमेंट योजना, जिसमें वेंटिलेटर खरीदने के लिए 4 मिलियन डॉलर में अनुबंध का उल्लेख है।

भाग 2: देश-स्तरीय अनुसंधान के बाद

विश्व बैंक के इन दस्तावेजों से आप यह जानकारी मिलती है कि किसी देश की सरकार इस पैसे का क्या करने जा रही है? लेकिन विश्व बैंक ने विभिन्न देशों की सरकारों के हाथ में स्थानीय स्तर पर कई समझौते का काम छोड़ दिया है। वे सिर्फ अनुबंधों के बारे में कुछ जानकारी एकत्र करते हैं। लेकिन यह भी अधूरी   और देर से प्राप्त होती है। नतीजतन, जिस देश के साथ आप काम कर रहे हैं, उस देश की स्थिति का अध्ययन करना महत्वपूर्ण है।

किसी विशेष देश में कानून और खरीद एजेंसियों की जानकारी के लिए विश्व बैंक का डेटाबेस देखें। यहां से एक देश चुनें। फिर दाईं ओर “Resources,” के तहत “Public Procurement Agency” लिंक पर क्लिक करें।

दुर्भाग्य से, कई राष्ट्रीय ऑनलाइन सिस्टम अपूर्ण है या इनका इस्तेमाल करना मुश्किल है। आदर्श रूप से, विश्व बैंक समूह की परियोजना आईडी संख्या का संदर्भ होना चाहिए। (लेकिन कई मामलों में यह गायब है।) इस खरीदारी प्रक्रिया पर नज़र रखने का मतलब है कि आपको कई खुली अधिसूचनाएं पढ़नी होंगी, जैसे टेंडर ऑफर, कॉन्ट्रैक्ट ओपनिंग, अनुबंध पर हस्ताक्षर करना।

इस प्रक्रिया में पारदर्शिता की कमी से रिपोर्टिंग में बाधा आ सकती है। जबकि विश्व बैंक के कुछ देशों के साथ समझौतों के मुताबिक बड़े खरीद समझौतों पर हस्ताक्षर करते समय उनके लाभकारी मालिकों के नामों की जानकारी का खुलासा किया जाना चाहिए। हालांकि, विश्व बैंक से प्राप्त जानकारी का अच्छा उपयोग करने के लिए, आपको देश की अपनी प्रणाली के बारे में जानना होगा।

नोट:  कुछ दस्तावेजों में, विश्व बैंक ने राष्ट्रीय खरीद व्यवस्था पर स्पष्ट और आलोचनात्मक टिप्पणियां की हैं। कुछ देशों ने इनमें सुधारों का वादा किया है।

लंबी अवधि में विश्व बैंक ने इस फंड के खर्च का लेखा-जोखा तीसरे पक्ष के साथ अनिवार्य कर दिया है। नतीजतन, अगर यह ऑडिट रिपोर्ट प्रकाशित होती है, तो कई चीजों का पूरी तरह से विवरण प्राप्त करना संभव हो सकता है। इस बीच, जांच करने के लिए बहुत कुछ मिल सकता है।

ऑडिट रिपोर्ट के माध्यम से विश्व बैंक का कोविड -19 खर्च की ट्रैकिंग करना

भविष्य में, विश्व बैंक द्वारा कोविड-19 खर्च के बारे में कई निगरानी रिपोर्टें तैयार की जाएंगी, कुछ बैंक द्वारा, कुछ तीसरे पक्ष द्वारा और कुछ राष्ट्रीय सरकारों द्वारा।।

ये रिपोर्ट कितनी आसानी से उपलब्ध होंगी काफी कुछ  इस पर निर्भर करेगा। कुछ पहले ही प्रकाशित हो चुके होंगे; अन्य भविष्य में प्रकाशित किए जाएंगे।

नजर रखने के लिए चीजें:

विश्व बैंक द्वारा समीक्षा

विश्व बैंक द्वारा कोविड -19 परियोजनाओं की विभिन्न तरीकों से निगरानी की जा रही है। जिनमें कुछ नए तरीके भी शामिल हैं।

ISR का प्रकाशन शुरू हो चुका है। विश्व बैंक के अधिकारियों द्वारा विभिन्न सरकारों की जानकारी के आधार पर त्रैमासिक परियोजना रिपोर्ट बनाई जाती है।  विभिन्न देशों की सरकारें परियोजना के लक्ष्यों को प्राप्त करने में कितनी सफल हैं? ISRs रिपोर्ट उनका संकेत देती हैं।

विश्व बैंक के अनुसार, खरीद और वित्तीय प्रबंधन पर कोविड-19 परियोजनाओं की निगरानी एक विशेष टीम (SWAT Team) द्वारा की जाएगी। लेकिन यह संकेत नहीं दिया है कि निष्कर्ष सार्वजनिक किए जाएंगे या नहीं। विश्व बैंक ने यह भी बताया कि “निगरानी और पर्यवेक्षण के लिए भू-सक्षम पहल” (GEMS) और“Iterative Beneficiary Monitor” दृष्टिकोण की समीक्षा करने की भी योजना बनाई है। लेकिन अभी इसके बारे में ज्यादा कुछ पता नहीं चल पाया है।

आप वर्ल्ड बैंक की एक्सेस टू इन्फॉर्मेशन पॉलिसी के तहत जानकारी के लिए यहां से आवेदन कर सकते हैं।

परियोजना के कार्यान्वयन में भ्रष्टाचार विरोधी नियमों का अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए, विश्व बैंक किसी भी समय किसी भी सरकार की जांच करने का अधिकार सुरक्षित रखता है। यह कोविड -19 से संबंधित परियोजनाओं पर भी लागू होता है। हालांकि, कुछ समय के लिए ऐसी जांच के परिणामों को सार्वजनिक नहीं किया गया है। ये जांच विश्व बैंक के भीतर एक स्वतंत्र इकाई, इंटीग्रिटी वाइस प्रेसीडेंसी Integrity Vice Presidency, द्वारा नियंत्रित की जाती है। कुछ परिणामों का खुलासा किया जाता है, लेकिन हमेशा नामों के साथ नहीं।

 सरकारी आकलन को मजबूत करने का आग्रह

विश्व बैंक ने कुछ देशों की सरकारों से कहा है कि वे कोविड-19 से संबंधित परियोजनाओं का “external audit” करने के लिए किसी तीसरे पक्ष को नियुक्त करें।

उदाहरण के लिए, 15 जुलाई की खरीद योजना के अनुसार, गाम्बिया को विश्व बैंक से लगभग 10 मिलियन प्राप्त हुए। इनमें से 11,000 डॉलर  ”बाह्य ऑडिट” केलिए आवंटित थे। यह पूछे जाने पर कि क्या तीसरे पक्ष की ऑडिट रिपोर्ट जारी की जाएगी, विश्व बैंक के एक प्रवक्ता ने कहा- “यह जरूरी नहीं है, ऐसी कोई शर्त नहीं है।”

सरकारें अपने तरीके से ऑडिट भी कर सकती हैं। लेकिन विश्व बैंक ने संकेत दिया है कि कुछ देश क्षमता की कमी और ऑडिट प्रक्रियाओं की पारदर्शिता को लेकर चिंतित हैं।

क्या इन ऑडिट रिपोर्ट को सार्वजनिक किया जाएगा? शायद नहीं। लेकिन वे मौजूद हैं, भले ही वे ज्ञात हों, उनके लिए खोज शुरू हो सकती है।

Other Resources

विभिन्न सरकारी समझौतों में धोखाधड़ी और भ्रष्टाचार का पता लगाने के लिए जीआईजेएन की संसाधन मार्गदर्शिका देखें: Researching Government Contracts for COVID-19 Spending. यह अरबी और बांग्ला में भी उपलब्ध है।  GIJN के सुझावों को एक पृष्ठ में टिप शीट के रूप में प्रस्तुत किया गया है।

जीआईजेएन ने विभिन्न समझौतों पर एक वेबिनार का भी आयोजन किया। इसमें ओपन कॉन्ट्रैक्टिंग पार्टनरशिप के एक विशेषज्ञ और कई पत्रकारों ने हिस्सा लिया। इसके अलावा, ओपन कॉन्ट्रैक्टिंग पार्टनरशिप ने कोविड -19 से संबंधित खरीद डेटा एकत्र करने, विज़ुअलाइज़  करने और प्रकाशित करने के लिए एक गाइड-  Guide to Collect, Publish and Visualize COVID-19 Procurement Data प्रकाशित की है। OCP के साप्ताहिक समाचार पत्र में दुनिया भर के अनुबंधों पर अच्छी पत्रकारिता के उदाहरण शामिल हैं।

वाशिंगटन स्थित एक एनजीओ, बैंक सूचना केंद्र ने एक डेटाबेस बनाया है कि विश्व बैंक के कोविड -19 आपातकालीन कोष को कैसे खर्च किया जा रहा है COVID-19 World Bank Emergency Response: Projects Repository। यहां खरीद समझौते पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया गया है, लेकिन कोविड -19 से संबंधित सभी खर्चों की पहचान की गई है।


टोबी मैकिनटोश जीआईजेएन संसाधन केंद्र के वरिष्ठ सलाहकार हैं। वह वाशिंगटन में ब्लूमबर्ग बीएनए के साथ 39 साल तक जुड़े रहे। वह फ्रीडमइन्फो डाॅट ओआरजी (2010-2017) के पूर्व संपादक हैं, जहां उन्होंने दुनिया भर में सूचना के अधिकार के बारे में लिखा है। उनका ब्लॉग eyeonglobaltransparency.net है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *